नादान दोस्त पाठ के प्रश्न उत्तर(nadan dost ke question answer)

पाठ 3 नादान दोस्त के प्रश्न उत्तर(nadan dost ke prashn uttar)

मौखिक प्रश्न

क) चिड़िया ने अंडे किसके घर में दिए थे?

उत्तर: चिड़िया ने अंडे केशव के घर में दिए थे।


ख) केशव और श्यामा किस को देखा करते थे?

उत्तर: केशव और श्यामा चिड़ियों को देखा करते थे।


ग) श्यामा ने मां से सही बात किस डर के कारण नहीं कही?

उत्तर: श्यामा ने मां से सही बात भैया के पिट जाने के डर से नहीं कहीं।


घ) केशव ने अंडों को किस पर रखा था?

उत्तर: केशव ने कपड़ा या चिथड़े का गद्दी बनाकर अंडों को उस पर रखा था।


ड़) इस कहानी के लेखक का नाम बताइए।

उत्तर: इस कहानी के लेखक मुंशी प्रेमचंद जी है।


लिखित प्रश्न

क) केशव और श्यामा के दिलों में किस-किस तरह के सवाल उठते थे?

उत्तर: अंडे कितने बड़े होंगे?, किस रंग के होंगे?, कितने होंगे?, क्या खाते होंगे?, उनमें बच्चे किस तरह निकल आएंगे?, बच्चों के पर कैसे निकलेंगे?, घोंसला कैसा है? इस तरह के कई सवाल केशव और श्यामा के दिलों में उठते थे।


ख) केशव ने अंडों को सुरक्षित करने के लिए क्या-क्या किया?

उत्तर: केशव ने अंडों को सुरक्षित करने के लिए निम्नलिखित काम किए:-

१. केशव ने तिनके को हटाकर अंडों के लिए कपड़े का गद्दी बनाईं और उस पर अंडों को रखा दिया।

२. केशव ने घोंसले के लिए एक टोकरी को इस तरह टहनी से टिकाकर रखा कि घोसले पर धूप ना पड़े।

३. चिड़ियों को भोजन की तलाश नहीं करनी पड़े इसके लिए उन्होंने दाना और पानी की प्याली भी घोसले के पास रखी।


ग) "अंडों से उजला-उजला पानी निकल आया है"-ऐसा केशव ने क्यों और किससे कहा?

उत्तर: "अंडो से उजला-उजला पानी आया है" ऐसा केशव ने अपनी बहन श्यामा से कहा क्योंकि श्यामा इतनी छोटी है कि उसे इतना भी नहीं पता की अंडों के टूटने के वजह से उससे उजला-उजला पानी निकल आया है अब उनसे चिड़िया नहीं निकल सकते हैं।


घ) श्यामा को केशव पर जरा भी तरस कब और क्यों नहीं आया?

उत्तर: जब दोनों बच्चें टूटे हुए अंडे को देख रहे थे तब उनकी मां आकर पूछा तुम दोनों वहां धूप में क्या कर रहे हो? तो श्यामा ने कहा अम्मा जी चिड़िया के अंडे टूटे पड़े हैं। तब अम्मा ने गुस्से से उनसे कहा तुम लोगों ने अंडों को छुआ होगा इस बात पर श्यामा को केशव पर जरा भी तरस नहीं आई क्योंकि एक तो केशव ने उसे अंडे नहीं दिखाए थे और उसे लगने लगा कि शायद भैया ने अंडों को ठीक तरह से नहीं रखा था और वह नीचे गिर पड़ा और उन्होंने अपनी मां को सारी बातें बता दी।


ड़) "केशव के सिर इसका पाप पड़ेगा" मां ने ऐसा क्यों कहा?

उत्तर: "केशव के सिर इसका पाप पड़ेगा" मां ने ऐसा इसलिए कहा कि अंडो को छूने से अंडे गंदे हो जाते हैं फिर चिड़िया उन्हें नहीं सेती है गिरा कर तोड़ देती है। केशव को इसके बारे में पता नहीं था। उसने अंडों को छुआ था।


2. बताओ, ये वाक्य किसने, किससे कहे?

क) बेचारे प्यास के मारे तड़प रहे होंगे।

उत्तर: केशव ने श्यामा से कहा


ख) वह तो बीच में फटी हुई है।

उत्तर: श्यामा ने केशव से कहा


ग) तुम लोगों ने अंडों को छुआ होगा?

उत्तर: मां ने केशव और श्यामा से कहा


एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ
* Please Don't Spam Here. All the Comments are Reviewed by Admin.